Wednesday, April 25, 2012

बारिश

किसी के लिए सुहानी... बारिश
किसी के लिए तूफ़ानी... बारिश
हर एक के लिए...  अलग अलग कहानी बारिश... 

किसी के लिए भीगने का मज़ा,,,
किसी के छत से टपकती परेशानी बारिश ..

कहीं सोंधी माटी की भीनी खुशबू..
कहीं असमय बाढ़ की मनमानी बारिश ..
किसी के लिए सुहानी... बारिश
किसी के लिए तूफ़ानी... बारिश
हर एक के लिए...  अलग अलग कहानी बारिश... 

समंदर की.. न बुझने वाली प्यास बारिश
स्वाती की एक बूँद पर अटकी चातक की आस बारिश..

उड़ते बादलों की.. अंतिम रवानी बारिश ..
पलकों से बहे.. तो दर्द की असह्य कहानी बारिश ..
हर एक के लिए...  अलग अलग कहानी बारिश... 

जल की जननी .. जीवन की निशानी बारिश...
बारिश कहे.. मैं तो हूँ सिर्फ़ पानी बारिश..
हर एक के लिए...  अलग अलग कहानी बारिश... 

बरसने दो ..

बरसने दो .. इन रिमझिम बूँदों को ..
सुनी पलकें कब से बूँदों को तरसें हैं ...

उमड़े हैं सैलाब कई ...
ये आँख फिर भी कहा बरसे हैं

रही इस कदर गर्मियाँ गमों की
पलके आँसू आँसू तरसे हैं ..

घुटन उदासी और थकन....
ह्म पिघले पिघले अंदर हैं ..
हम झुलसे झुलसे बाहर से हैं..

भर जाने दो घर आँगन.. 
मस्त हवाओं के झोको से
भीगो लो तन मन..
यूँ पतझर में पावस कब बरसे हैं

Tuesday, April 3, 2012

ये आँधी.. ये तूफ़ा ..


ये आँधी.. ये तूफ़ा ..
ये कहा लेके जाएँगे
आएँगे .. गुजर जाएँगे

उजड़े या बिखर जाएँ..
तय तो हमें करना है
हम किधर जाएँगे ...

लहरों से कह दो..
डुबो के देख लें ..
जितना डूबेंगे
उतने ही उभर आएँगे ...

कि लगी है आग
तो जलके देखते हैं...
खाक से निकले तो
और निखर आएँगे...

Sunday, April 1, 2012

जिंदगी...



सुख दुख की सीमाओं के उस पार जिंदगी है ..
टूटी हुई कश्ती है.. और मझधार जिंदगी है ..


मुश्किलों के भवर में.. थामी जिसने हौसलों की पतवार जिंदगी है ...
जीत की कोशिशों में..जिसने कभी ना मानी हार.. जिंदगी है ..


सज़ा लो कुछ नये ख्वाब सुनी आँखों में 
सपनों को कर जाना साकार जिंदगी है 


काफिलों के संग चलना किसे नही आता .
जो खुद के रास्ते करे अख्तियार जिंदगी है


कहा मुश्किल है .. किसी शाख पे बसर करना..
एक नयी बुनियाद को जो दे आधार जिंदगी है ..


दर्द..आँसू.. खुशी.. सुकून.. सपने..वादे.. भूली..यादें..
क्या समेटोगे.. क्या दे जाओगे ..
फकत .. चंद साँसों का कारोबार जिंदगी ..है ..