Saturday, November 9, 2013

"मुझे कहाँ.. किसी सुकून-ए-ख्वाब की आरजू ..
नींद क्यूँ आई है ??.. जा कहीं और तू...."

No comments:

Post a Comment